Fri. Jun 14th, 2024

एकता ज्योति संवाददाता

  • 26 दिन की धार्मिक यात्रा पर अमेरिका गए हैं श्रीमहंत नारायण गिरि

अमेरिकाः  अमेरिका धार्मिक यात्रा के दौरान श्री दूधेश्वर पीठाधीश्वर  अन्तर्राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़ा व राष्ट्रीय अध्यक्ष दिल्ली एनसीआर सन्त महामण्डल श्रीमंहत नारायण गिरि ने रविवार के दिन फ्लोरिडा के श्री लक्ष्मी नारायण मन्दिर में धर्म चर्चा की। धर्म चर्चा में बडी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। श्रीमहन्त नारायण गिरि भारतीय मूल के भक्तों को ईश्वरीय शक्ति,एवं वैदिक सनातन धर्म के विषय में मार्ग दर्शन किया। साथ ही हम कैसे सन्तों का सानिध्य लेकर ईश्वर की कृपा पा सकते हैं, ध्यान भगवान नाम जाप के माध्यम से अन्तःकरण मन को शांति प्रदान कर सकते हैं इसकी जानकारी भी दी। श्रीमंहत नारायण गिरि ने कहा कि  जहां सन्त वास करते हैं वहां सनातन वास करता है। जिस स्थान पर सन्तों का गुरूओ का पूजन किया जाता है, वहरं धर्म वास करता है और जहां  धर्म वास करता है वहां पर लक्ष्मी वास करती है क्योंकि धर्म स्वयं नारायण रूप है। अगर हम अपने धर्म एवं सत्य के मार्ग पर गुरू जनों के सानिध्य में चलेंगे तो निश्चित ही धन सुख शान्ति प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि सन्तों की नजर में हर जीव शिव है। अतः परम पिता परमात्मा की साधना करें और अपने व्यस्त समय में से समय निकाल कर ईश्वर का ध्यान चिन्तन अवश्य करें क्योंकि आध्यत्मिकता से अनन्त शक्ति प्रदान होती है, जिससे हम अपने कार्यों में अवश्य ही विजय प्राप्त करते हैं। रविवार को संस्कृत में सूर्य दिवस भी कहा जाता है। जैसे सूर्य की किरण से समस्त सृष्टि अन्धकार मुक्त हो जाती है उसी प्रकार सन्तों के सानिध्य से जीवन के अन्धकार से मुक्त होकर सत्य ज्ञान धर्म का मार्ग हमें प्राप्त होता है। अतः जहां सन्त है वहां सत्य सनातन है जहां सत्य सनातन है वहां धर्म है नीति है और जहां धर्म है वहां ईश्वर सदैव वास करते हैं। बाबा लाल मन्दिर के पंडित महेश वशिष्ठ, विजय बाबा जी लंडन वाले आदि भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.